" मेरा पूरा प्रयास एक नयी शुरुआत करने का है। इस से विश्व- भर में मेरी आलोचना निश्चित है. लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता "

"ओशो ने अपने देश व पूरे विश्व को वह अंतर्दॄष्टि दी है जिस पर सबको गर्व होना चाहिए।"....... भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री, श्री चंद्रशेखर

"ओशो जैसे जागृत पुरुष समय से पहले आ जाते हैं। यह शुभ है कि युवा वर्ग में उनका साहित्य अधिक लोकप्रिय हो रहा है।" ...... के.आर. नारायणन, भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति,

"ओशो एक जागृत पुरुष हैं जो विकासशील चेतना के मुश्किल दौर में उबरने के लिये मानवता कि हर संभव सहायता कर रहे हैं।"...... दलाई लामा

"वे इस सदी के अत्यंत अनूठे और प्रबुद्ध आध्यात्मिकतावादी पुरुष हैं। उनकी व्याख्याएं बौद्ध-धर्म के सत्य का सार-सूत्र हैं।" ....... काज़ूयोशी कीनो, जापान में बौद्ध धर्म के आचार्य

"आज से कुछ ही वर्षों के भीतर ओशो का संदेश विश्वभर में सुनाई देगा। वे भारत में जन्में सर्वाधिक मौलिक विचारक हैं" ..... खुशवंत सिंह, लेखक और इतिहासकार

प्रकाशक : ओशो रजनीश | सोमवार, नवंबर 15, 2010 | 18 टिप्पणियाँ

"मैं

एक साधारण व्यक्ति हूं।

मेरे पास कोई करिश्मा नहीं और मैं

करिश्मे में विश्वास नहीं करता। मैं पद्धतियों में

विश्वास नहीं करता। भले ही मैं उनका इस्तेमाल करता हूं

लेकिन मैं उन पर विश्वास नहीं करता। मैं एक साधारण व्यक्ति हूं,

बहुत आम। मैं भीड़ में खो सकता हूं और तुम कभी मुझे ढूंढ न पाओगे।

मैं तुम्हारे आगे नहीं, साथ चलता हूं।"

ओशो

18 पाठको ने कहा ...

  1. बढ़िया लिखा है

  2. मेरे ब्लॉग पर भी आये
    http://bigboss-s4.blogspot.com/

  3. # भारतीय माहौल में रम जाना चाहती हैं पामेला
    # "बेवाच" की आकर्षक पामेला बुधवार को "बिग बॉस 4" में...
    # पामेला एंडरसन भारतीय संस्कृति में रंगना चाहती

  4. # सारा और अली को मुस्लिम समाज से निकालने का फरमान
    # बिग बॉस 4 को लेकर शिकायत नहीं मिली
    # 'नकली शादी से जनता को बनाया जा रहा है उल्लू'

  5. # बिग बॉस के घर से निकल कर खुश हुईं आंचल
    # बिग बॉस में झूठा विवाह, कलर्स को नोटिस
    # सारा-अली की शादी नकली : राहुल भट्ट

  6. बेनामी says:

    मैं तुम्हारे आगे नहीं, साथ चलता हूं।"

    बढ़िया

  7. सुंदर शब्द और सार्थक लेख , कम शब्दों में सार्थक बात

  8. kabhi hamare blog pr aaiye ,,...hame achha lagega.

  9. मेरे ब्लॉग पर भी आये
    http://thodamuskurakardekho.blogspot.com/2010/11/blog-post_16.html

  10. बेनामी says:

    achha pravachan

    aman jeet singh,,

  11. थोडे शब्दो मे गहरी बात कह दी।

  12. बेनामी says:

    अच्छा लिखा है

  13. बेनामी says:

    प्रश्न हैरू. ये बताये आप खाना आंख बन्द करके खाते है
    या खाते समय आपकी नजर थाली पर रहती है कि कही
    कीड़ा या बाल तो नही है निवाले मे कंकंड़ आ जाता है
    तो आप उसे खा लेते है या उगल देते है। जरा सोचें।

  14. ehsas says:

    sunder aalekh. osho rajnish ko padna hamesha sarthak raha hai.

  15. बहुत बहुत शुक्रिया पाठको का जो मेरे इस छोटे से प्रयास को सराहा आप लोगो ने ... आभार

Leave a Reply

कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय संयमित भाषा का इस्तेमाल करे। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी। यदि आप इस लेख से सहमत है तो टिपण्णी देकर उत्साहवर्धन करे और यदि असहमत है तो अपनी असहमति का कारण अवश्य दे .... आभार