" मेरा पूरा प्रयास एक नयी शुरुआत करने का है। इस से विश्व- भर में मेरी आलोचना निश्चित है. लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता "

"ओशो ने अपने देश व पूरे विश्व को वह अंतर्दॄष्टि दी है जिस पर सबको गर्व होना चाहिए।"....... भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री, श्री चंद्रशेखर

"ओशो जैसे जागृत पुरुष समय से पहले आ जाते हैं। यह शुभ है कि युवा वर्ग में उनका साहित्य अधिक लोकप्रिय हो रहा है।" ...... के.आर. नारायणन, भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति,

"ओशो एक जागृत पुरुष हैं जो विकासशील चेतना के मुश्किल दौर में उबरने के लिये मानवता कि हर संभव सहायता कर रहे हैं।"...... दलाई लामा

"वे इस सदी के अत्यंत अनूठे और प्रबुद्ध आध्यात्मिकतावादी पुरुष हैं। उनकी व्याख्याएं बौद्ध-धर्म के सत्य का सार-सूत्र हैं।" ....... काज़ूयोशी कीनो, जापान में बौद्ध धर्म के आचार्य

"आज से कुछ ही वर्षों के भीतर ओशो का संदेश विश्वभर में सुनाई देगा। वे भारत में जन्में सर्वाधिक मौलिक विचारक हैं" ..... खुशवंत सिंह, लेखक और इतिहासकार

प्रकाशक : ओशो रजनीश | बुधवार, नवंबर 10, 2010 | 23 टिप्पणियाँ

"मैं न तो पूर्व का व्यक्ति हूं न पश्चिम का। मेरा संबंध न किसी देश से है, न किसी राष्ट्र से और

न किसी धर्म से। क्योंकि यदि आप किसी एक देश से जुड़े है तो फिर सबसे

नहीं जुड़ सकते। यदि आप किसी एक धर्म से जुड़े हैं तो सब धर्म

आपके नहीं हो सकते। मैं किसी एक से नहीं जुड़ा हूं। मेरी

जड़ें न किसी एक देश मैं हैं, न किसी एक धर्म

में न किसी विशेष मानव

जाति में ।"

ओशो

23 पाठको ने कहा ...

  1. अद्भुद !
    ओशो का हस्ताक्षर मुझे अत्यंत प्रिय है ... संभव हो तो ब्लॉग पर लगाएं ... प्रेम!

  2. mukul anand says:

    अच्छे विचार . अद्भुद !

  3. बहुत अच्छे विचार है ओशो के इन विचारो से अवगत करने के लिए आभार ....

  4. अच्छे विचार है , दिल से धन्यवाद

  5. बहुत बढ़िया प्रस्तुति। आभार।

  6. धन्यवाद आपका ओशो के इन सुंदर विचारो से रु-ब-रु करने के लिए........ आगे भी अच्छा लिखते रहिये .......

  7. सच
    अदभुत है ये
    आलेख

  8. sanu shukla says:

    sundar aalekh!
    faith works wonders....

  9. सनातर धर्म को अगर सही में समझना है तो हर शब्द को उसे अर्थ देने वाले की बातों को पढ़ना ही पढ़ेगा। अदभुत है

  10. aditya shaw says:

    जी ओशो सच कहते हैं

  11. M.R.Ghori says:

    likhte rahen!!!!
    subhkamnayen

  12. Vikas Singh says:

    ओशो का चिन्तन जीवन की गहराई से उपजता है, उनके कई सूत्र बहुत प्रभावित करते है, मेरे पास भी ध्यानयोग पर उनकी पुस्तकें हैं। बहुत अच्छी पोस्ट। धन्यवाद।

  13. ANUPAM says:

    अति सुन्दर

  14. बेनामी says:

    very nice

  15. बेनामी says:

    very nice

  16. क्या प्यारे "ओशो" के बोले गये एक भी शब्द पर कोई टिप्पणी दी जा सकती है?
    बस इतना ही कह सकता हूँ कि हमें उनके प्रवचन पढवाने के लिये हार्दिक आभार

    प्रणाम स्वीकार करें

  17. क्या प्यारे "ओशो" के बोले गये एक भी शब्द पर कोई टिप्पणी दी जा सकती है?
    बस इतना ही कह सकता हूँ कि हमें उनके प्रवचन पढवाने के लिये हार्दिक आभार

    प्रणाम स्वीकार करें

  18. बेनामी says:

    ati uttam

    aman jeet singh,,

  19. ज्ञानवर्धक प्रस्तुति .......

  20. sudhir kumar says:

    नये तरीके से सोचने और समझने की शक्ति देता है ओशो का लिखा ....

Leave a Reply

कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय संयमित भाषा का इस्तेमाल करे। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी। यदि आप इस लेख से सहमत है तो टिपण्णी देकर उत्साहवर्धन करे और यदि असहमत है तो अपनी असहमति का कारण अवश्य दे .... आभार