" मेरा पूरा प्रयास एक नयी शुरुआत करने का है। इस से विश्व- भर में मेरी आलोचना निश्चित है. लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता "

"ओशो ने अपने देश व पूरे विश्व को वह अंतर्दॄष्टि दी है जिस पर सबको गर्व होना चाहिए।"....... भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री, श्री चंद्रशेखर

"ओशो जैसे जागृत पुरुष समय से पहले आ जाते हैं। यह शुभ है कि युवा वर्ग में उनका साहित्य अधिक लोकप्रिय हो रहा है।" ...... के.आर. नारायणन, भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति,

"ओशो एक जागृत पुरुष हैं जो विकासशील चेतना के मुश्किल दौर में उबरने के लिये मानवता कि हर संभव सहायता कर रहे हैं।"...... दलाई लामा

"वे इस सदी के अत्यंत अनूठे और प्रबुद्ध आध्यात्मिकतावादी पुरुष हैं। उनकी व्याख्याएं बौद्ध-धर्म के सत्य का सार-सूत्र हैं।" ....... काज़ूयोशी कीनो, जापान में बौद्ध धर्म के आचार्य

"आज से कुछ ही वर्षों के भीतर ओशो का संदेश विश्वभर में सुनाई देगा। वे भारत में जन्में सर्वाधिक मौलिक विचारक हैं" ..... खुशवंत सिंह, लेखक और इतिहासकार

प्रकाशक : ओशो रजनीश | गुरुवार, अप्रैल 28, 2011 | 9 टिप्पणियाँ

आप के लिए प्रस्तुत है ओशो के अजहूँ चेत गंवार नाम

से संकलित प्रवचन माला


इस प्रवचन माला मे कुल मिला कर 20 प्रवचन होंगे ,

प्रतिदिन प्रवचन देने की कोशिश की जाएगी

प्रवचन को अपने पीसी मे डाऊनलोड करने के लिए पासवर्ड मेल से भेजा जाएगा

आशा है आप को ये प्रवचन माला अवश्य प्रस्तुत आएगी

++++++++++++++++++++++++++++++++++++++++

प्रवचन को सुनने के लिए

यहाँ क्लिक करें

++++++++++++++++++++++++++++++++++++++++

प्रवचन को अपने PC मे डाऊनलोड करने लिए

यहा क्लिक करें

++++++++++++++++++++++++++++++++++++++++

पासवर्ड के लिए टिप्पणी मे अपना ई मेल पता दें

या

इस पते पर ई-मेल करें

osho@oshorajneesh.in

9 पाठको ने कहा ...

  1. Sachin says:

    बहुत सुंदर ब्लॉग

  2. KBS says:

    plz password mail kar de

  3. KBS says:

    password jaimatadi.kbs07@gmail.com par bheje

  4. Meet..... says:

    आनन्द अमार जात
    उत्सव हमार गोत्र

    amit.dsvv@gmail.com

  5. Ashok sonana says:

    bahut hi shandar. thnks for this.

  6. mukesh sharma says:

    hmari jindgi ko jitna aasan kiya utna kabhi nahi tha neelkanthastro.com@rediffmail.com

Leave a Reply

कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय संयमित भाषा का इस्तेमाल करे। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी। यदि आप इस लेख से सहमत है तो टिपण्णी देकर उत्साहवर्धन करे और यदि असहमत है तो अपनी असहमति का कारण अवश्य दे .... आभार