" मेरा पूरा प्रयास एक नयी शुरुआत करने का है। इस से विश्व- भर में मेरी आलोचना निश्चित है. लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता "

"ओशो ने अपने देश व पूरे विश्व को वह अंतर्दॄष्टि दी है जिस पर सबको गर्व होना चाहिए।"....... भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री, श्री चंद्रशेखर

"ओशो जैसे जागृत पुरुष समय से पहले आ जाते हैं। यह शुभ है कि युवा वर्ग में उनका साहित्य अधिक लोकप्रिय हो रहा है।" ...... के.आर. नारायणन, भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति,

"ओशो एक जागृत पुरुष हैं जो विकासशील चेतना के मुश्किल दौर में उबरने के लिये मानवता कि हर संभव सहायता कर रहे हैं।"...... दलाई लामा

"वे इस सदी के अत्यंत अनूठे और प्रबुद्ध आध्यात्मिकतावादी पुरुष हैं। उनकी व्याख्याएं बौद्ध-धर्म के सत्य का सार-सूत्र हैं।" ....... काज़ूयोशी कीनो, जापान में बौद्ध धर्म के आचार्य

"आज से कुछ ही वर्षों के भीतर ओशो का संदेश विश्वभर में सुनाई देगा। वे भारत में जन्में सर्वाधिक मौलिक विचारक हैं" ..... खुशवंत सिंह, लेखक और इतिहासकार

प्रकाशक : ओशो रजनीश | गुरुवार, जनवरी 20, 2011 | 6 टिप्पणियाँ

"मैं कोई नहीं हूं। तो मेरा किसी राष्ट्र से संबंध है किसी धर्म से और किसी राजनैतिक

पार्टी से। मैं बस एक व्यक्ति हूं, जैसा मुझे अस्तित्व ने बनाया है। मैंने अपने आप

को किसी भी मूर्खतापूर्ण सिद्धांत से अलग रखा है-वह चाहे धार्मिक हो,

राजनैतिक, सामाजिक या वित्त संबंधी। और चमत्कार यह है

कि क्योंकि मेरी आंखों पर इन सब के चश्मों का बोझ

नहीं है, इनका पर्दा पड़ा है,

मैं साफ देख सकता

हूं।"



ओशो
XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

आदतें - ओशो प्रवचन

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX
ओशो के प्रवचनों को औडियो के रूप मे ब्लॉग पर उपलब्ध करवाने का एक छोटा सा प्रयास

किया
है,यदि ये प्रयास सफल रहा तो जल्द ही आपको ओशो के कहे सारे शब्द इस

ब्लॉग
पर मिलेंगे ... ये प्रयास आपको कैसा लगा आप जरूर बताए

XXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXXX

6 पाठको ने कहा ...

  1. बढ़िया विचार ..... ओशो का प्रवचन बहुत अच्छा लगा

  2. मैं भी कुछ कुछ आप ही की तरह देखने की कोशिश में लगा हुआ हूँ।

  3. kripaya parvachan download karne ki suvidha bhi dein taki offline bhi baar baar sun sakein.

Leave a Reply

कृपया अपनी प्रतिक्रिया देते समय संयमित भाषा का इस्तेमाल करे। असभ्य भाषा व व्यक्तिगत आक्षेप करने वाली टिप्पणियाँ हटा दी जायेंगी। यदि आप इस लेख से सहमत है तो टिपण्णी देकर उत्साहवर्धन करे और यदि असहमत है तो अपनी असहमति का कारण अवश्य दे .... आभार